ALL देश- प्रदेश राजनीति अपराध ग्वालियर भ्रष्टाचार विशेष
वायरल अॉडियो से हडकंप, डॉ गोविंद सिंह के खिलाफ सिंधिया मुझे ले जा रहे हैं लहार !
June 8, 2020 • Jitendra parihar

सुनहरा संसार 

 

 

जैसे - जैसे मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव का समय नजदीक आ रहा है वैसे - वैसे राजनीतिक विसात पर शह और मात का खेल भी परवान चढ़ रहा है। इसी राजनीतिक चौंसर की बानगी है एक वायरल अॉडियो है जिसमें एक शख्स दूसरे से कह रहा है कि सिंधिया डॉ गोविंद सिंह को घेरने के लिए उसकी पोस्टिंग लहार करा रहे हैं। हालांकि हम इसकी पुष्टि नहीं करते है ।

साभार गूगल 

विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर प्रदेश की 24 सीटों पर जीत हासिल करने  के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल चाल पर चाल चल रहे हैं। जिसमें ग्वालियर चंबल संभाग कुछ ज्यादा ही खास है, क्योंकि यह सिंधिया परिवार का गढ़ माना जाता है, जहां की 16 सीटों पर उपचुनाव होना है। चूंकि श्री सिंधिया इस बार उपचुनाव में भाजपा की तरफ से उस कांग्रेस को घेरेंगे जिसे उन्होंने ही अपनी मेहनत से 15 साल बाद सत्ता दिलाई थी मगर स्वाभिमान को ठैस लगी तो राजमाता विजयाराजे सिंधिया की तरह इतिहास दौहरा कर कांग्रेस को फिर से विपक्ष में बैठने पर मजबूर कर दिया। वहीं कांग्रेस ने इन सीटों पर मोर्चा संभालने की कमान सोंपी है  अंचल के कद्दावर नेता डॉ गोविंद सिंह को जो लगातार जीत का इतिहास रच कर अंचल ही नहीं राज्य स्तर पर बड़ी पहचान रखते हैं । 

चूंकि यह उपचुनाव न सिर्फ दोनों दलों के लिए बल्कि दोनों नेताओं के लिए भी प्रतिष्ठा का विषय बन गया है यही वजह है कि कांग्रेस सिंधिया को घेरने के लिए हर छोटे-बड़े मुद्दे को भुनाना चाहती है। पहले भी सिंधिया द्वारा कार्यकर्ताओं से बातचीत के अॉडियो वायरल कर सिंधिया की छबि पर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए गए हैं। इस अॉडियो में थाना तैनाती को लेकर बार-बार सिंधिया और महाराज जैसे शब्द और गोविंद सिंह के खिलाफ भेजने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है, जो सिंधिया की अब तक की शैली के मुताबिक तो नहीं है। 

सबसे बड़ी बात यह है कि इस अॉडियो में दोनों लोगों में से किसी के द्वारा एक भी बार एक दूसरे के नाम या उपनाम का संबोधन नहीं किया गया है, लेकिन मौं थाना क्षेत्र के अंतर्गत जारहेट गांव में हुए पिता पुत्र के दौहरे हत्याकांड का पूरा जिक्र हुआ है। जिसमें पहले शख्स की तरफ से मृतक परिवार का सपोर्ट करने के लिए दूसरे तरफ के व्यक्ति से कहा जा रहा है कि मृतक परिवार का सपोर्ट करना है वह अपने संपर्क में आ गए हैं । वहीं दूसरी ओर वायरलैस सेट की आबाज के बीच वार्तालाप कर रहा व्यक्ति जो संभत: पुलिस अधिकारी हो सकता है , कहता है कि पीड़ित पक्ष ने हत्यारोपी का मकान बर्बाद कर दिया, गेंहूं बैकार हो रहा है वह निकल जाए तो ठीक है, आरोपी ने इसके लिए जेल से पत्र भी लिखा है। अॉडियो में आरोपित में से ऐसे युवक को लेकर भी बात - चीत हुई है जो आरोपितों में से है और आईएएस की तैयारी कर रहा है। 

      वायरल अॉडियो की बात - चीत के अंश

 

* वायरल अॉडियो में पहली तरफ से आवाज आती है कि कहां पदस्थ हो

जबाव - भिंड में 

*- दतिया आ जाओ 

जबाव - नहीं मंत्री की कथनी और करनी में अंतर है 

*- तो हमारी विधानसभा सेवडा में आ जाओ यहां तो कोई दिक्कत नहीं है। 

जबाव - महाराज सिंधिया हमें लहार ले जा रहे हैं, गोविंद सिंह के लिए वहां के बाद आपके यहां आ जाऊंगा। 

अॉडियो में कितनी सच्चाई है और कितनी झूठ है यह तो नहीं कहा जा सकता है लेकिन इस तरह की राजनीति स्वच्छ लोकतंत्र के लिए घातक जरूर है।