ALL देश- प्रदेश राजनीति अपराध ग्वालियर भ्रष्टाचार विशेष
कोरोना पर जीत हासिल कर कांग्रेस ने किया कार्यकर्ता सम्मेलन.?
August 26, 2020 • Jitendra parihar

सुनहरा संसार 

मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी पर राजनीति भारी है यह अब पूरी तरह साफ है। बीजेपी द्वारा ग्वालियर में चलाए गए सदस्यता अभियान के खिलाफ कांग्रेस ने कोरोना का रोना रोकर सड़कों पर जमकर हंगामा किया और दो दिन बाद ही बिना तैयारी के सदस्यता अभियान करके साबित कर दिया कि उसे जनता की नहीं खुदके गिरते वोट बैंक का डर था। लेकिन ग्वालियर चंबल में कांग्रेस जिनके सहारे सीटें जीतना चाहती है क्या उनकी अनुपस्थिति में फतह संभव है ।

बुधवार को कांग्रेस ने भी कोरोना संक्रमण पर शायद जीत हासिल कर ली। इसीलिए भाजपा के पदचिन्हों पर चलते हुए ग्वालियर में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया। इस सम्मेलन में कांग्रेस की गुटबाजी की झलक भी दिखी जबकि कांग्रेस में रहते हुए गुटबाजी के लिए अक्सर सिंधिया पर आरोप लगते रहे हैं । उपचुनाव की तैयारियों के बीच शक्ति प्रदर्शन के तौर देखे जाने वाले इस कार्यकर्ता सम्मेलन में ग्वालियर चंबल संभाग के नेता डॉ. गोविंद सिंह, लाखन सिंह के अलावा अन्य विधायक शामिल नहीं हुए बल्कि सज्जन सिंह वर्मा, जयवर्धन सिंह तथा पीसी शर्मा ही पहुंचे और 10 मिनट के संबोधन के बाद कार्यक्रम समाप्त हो गया।

 इस तरह इतना बड़ा कार्यक्रम ओपचारिकताओं के साथ महज 10,15 मिनट में निपट गया । जबकि अंचल की सीटों को जिताने के लिए पार्टी का दारोमदार डॉ गोविंद सिंह और लाखन सिंह पर ही माना जा रहा है। हैरत की बात है कि भाजपा की ईंट का जबाव पत्थर से देने के लहजे से कांग्रेस द्वारा रखे गये कार्यकर्ता सम्मेलन में क्षेत्रीय दिग्गज नेताओं ने रुचि नहीं ली ऐसे में कांग्रेस कैसे जीत हासिल करेगी देखने लायक होगा । 

             भाजपा प्रवक्ता का ट्वीट

               इधर बालेन्दु भी रूठ गए 

इधर कॉंग्रेस द्वारा रखी गई मेगा प्रेस वार्ता में दूसरी पंक्ति में नाम होने से पूर्व मंत्री बालेन्दु शुक्ला , भगवान सिंह व पूर्व सांसद रामसेवक सिंह नाराज हो गए और एकांत में जाकर बैठ गए , जिन्हें रामनिवास रावत के साथ कुछ लोग मनाने पहुंचे।

           मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया फ्लॉप शो

कांग्रेस के कार्यकर्ता सम्मेलन पर निशाना साधते हुए नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि ग्वालियर में कांग्रेस का आज का सम्मेलन फ्लॉप हुआ है। कार्यक्रम में नेताओं के बीच आपसी झगड़े हुए, कुर्सियां खाली पड़ी रही, 10 मिनट में ही कांग्रेस का ये सम्मेलन खत्म हो गया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में हताशा और निराशा का माहौल है. पार्टी की आपसी अंतर्कलह ग्वालियर में सड़क पर देखने को मिली है। 

 

                 आंकड़ों में हताशा

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजाति ने दावा किया कि आज कांग्रेस के साथ 90 हजार कार्यकर्ता जुड़े हैं. उन्होंने अजीबो-गरीब तर्क देते हुए कहा कि जिन लोगों ने एयरपोर्ट से लेकर होटल तक हमारा स्वागत किया वह सब हमारे कार्यकर्ता थे और उनकी संख्या 90 हजार के पार थी।