ALL देश- प्रदेश राजनीति अपराध ग्वालियर भ्रष्टाचार विशेष
इधर कांग्रेस ने लगाए भाजपा पर हॉर्स ट्रेडिंग के गंभीर आरोप उधर भाजपा के दो विधायक बैठक से गायब
March 3, 2020 • Jitendra parihar

सुनहरा संसार

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से लगातार हॉर्स ट्रेडिंग की बात उठती रही है। सबसे बड़ी बात है कि भाजपा भी सरकार गिराने का अनेक बार दावा कर चुकी है। ऐसे में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने फिर से भाजपा पर विधायकों की खरीद - फरोख्त का दावा किया, वहीं आज कांग्रेस विधायक ने उन्हें भाजपा द्वारा अॉफर दिए जाने का खुलासा किया है। 
 दिग्विजय सिंह ने दावा किया है कि भाजपा हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए कांग्रेस सपा और बसपा के विधायकों पर जाल बिछा रही है और कुछ विधायकों को लेकर दिल्ली पहुंच रही है। वहीं आज  मुरैना जिले की सबलगढ़ विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक बैजनाथ कुशवाहा ने दावा किया है कि उन्हें भाजपा नेता द्वारा ऑफर दिया गया है। विधायक बैजनाथ कुशवाह मंगलवार को प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री डॉ गोविन्द सिंह के बंगले पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाजपा की ओर से उन्हें ऑफर दिया गया है।  हालांकि उनसे जब मीडिया ने सवाल किया कि क्या उनके पास कोई सबूत है तो उन्होंने कहा कि इस संबंध में मेरे पास कोई रिकार्डिंग नहीं है। लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बेजनाथ कुशवाह ने डॉ गोविंद सिंह के कहने पर रिकॉर्डिंग की बात छुपा ली, खबर तो यह भी है कि विधायक रणबीर जाटव और कुछ अन्य विधायक भी डॉ गोविंद सिंह मिलने पहुंचे थे । वहीं आज ग्वालियर में श्री सिंधिया से दिग्विजय सिंह द्वारा दिए गए हॉर्स ट्रेडिंग के बयान पर प्रतिक्रिया जानना चाही तो उन्होंने कहा कि उन्हें इन तथ्यों के बारे में जानकारी नहीं है। कांग्रेस की सरकार जनता ने बनाई हैं, जनता के विश्वास पर सरकार टिकी हुई हैं, हम जन सेवा के लिए ही राजनीति में आए हैं।
उधर भाजपा द्वारा हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर बुलाई गई  बैठक में ब्यौहारी से भाजपा विधायक शरद कोल  और मैहर  विधायक नारायण त्रिपाठी भी बैठक में नहीं पहुंचे । हालांकि भाजपा का कहना है कि दोनों ने सूचना दे दी थी। इनमें से मैहर विधायक पर तो हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप भी लगाया गया है।  देखना दिलचस्प होगा कि हॉर्स ट्रेडिंग का बार, प्रति बार इस बार क्या गुल खिलता है।